Successfully reported this slideshow.
We use your LinkedIn profile and activity data to personalize ads and to show you more relevant ads. You can change your ad preferences anytime.

Polity topic-rajypal-3 d

3,763 views

Published on

Polity topic-rajypal-3d

Published in: Education
  • My struggles with my dissertation were long gone since the day I contacted Emily for my dissertation help. Great assistance by guys from ⇒⇒⇒WRITE-MY-PAPER.net ⇐⇐⇐
       Reply 
    Are you sure you want to  Yes  No
    Your message goes here
  • Be the first to like this

Polity topic-rajypal-3 d

  1. 1. राज्यपाल भारतीय राजव्यवस्था एवं अभभशासन www.iasexamportal.com © IASEXAMPORTAL.COM
  2. 2. • संविधान के छठे भाग के अनुच्छेद 153 से 167 तक राज्य काययपालिका के बारे में बताया गया है। • राज्य काययपालिका में शालमि होते हैं-राज्यपाि, मुख्यमत्री, मंत्रत्रपररषद और राज्य के महाधधिक्ता (एडिोके ट जनरि)। Click Here To Join Online IAS Pre Online Coaching www.iasexamportal.com © IASEXAMPORTAL.COM
  3. 3. • राज्य का काययकारी प्रमुख्य (संिैधाननक मुखिया) होता है। राज्यपाि, कें द्र सरकार के प्रनतननधध के रूप में भी कायय करता है। इस तरह राज्यपाि कायायिय, दोहरी भूलमका ननभाता है। • सामान्यतःप्रत्येक राज्य के लिए एक राज्यपाि होता है, िेककन सातिें संविधान संशोधन अधधननयम 1956 की धारा के अनुसार एक ही व्यक्क्त को दो या अधधक राज्यों का राज्यपाि भी ननयुक्त ककया जा सकता है । राज्यपाल Click Here To Join Online IAS Pre Online Coaching www.iasexamportal.com © IASEXAMPORTAL.COM
  4. 4. राज्यपाल की ननयुक्तत • उसकी ननयुक्क्त राष्ट्रपनत के मुहर िगे आज्ञापत्र के माध्यम से होती है। • इस प्रकार िह कें द्र सरकार द्िारा मनोनीत होता है िेककन उच्चतम न्यायािय की 1979 की व्यिस्था के अनुसार, राज्य में राज्यपाि का कायायिय कें द्र सरकार के अधीन रोजगार नहीं है। • यह एक स्ितंत्र संिैधाननक कायायिय है और यह कें द्र सरकार के अधीनस्थ नहीं है । Click Here To Join Online IAS Pre Online Coaching www.iasexamportal.com © IASEXAMPORTAL.COM
  5. 5. राज्यपात पद के भलये अर्हताएँ संविधान ने राज्यपाि के रूप में ननयुक्त ककए जाने िािे व्यक्क्त के लिए दो अहयताएं ननधाररयत की। िे हैं- - उसे भारत का नागररक होना चाहहए । - िह 35 िषय की आयु पूर्य कर चुका हो । Click Here To Join Online IAS Pre Online Coaching www.iasexamportal.com © IASEXAMPORTAL.COM
  6. 6. राज्यपाल के पद की शते • उसे ककसी िाभ के पद पर नहीं होना चाहहए। • त्रबना ककसी ककराये के उसे राजभिन (कायायिय) उपिब्ध होगा । • िह संसद द्िारा ननधायररत सभी प्रकार की उपिक्ब्धयो, विशेषाधधकार और भत्तों के लिए अधधकृ त होगा । Click Here To Join Online IAS Pre Online Coaching www.iasexamportal.com © IASEXAMPORTAL.COM
  7. 7. राज्यपाल की पदावधि • सामान्यतया राज्यपाि का काययकाि पद ग्रहर् से पांच िषय की अिधध के लिये होता है ककंतु िास्ति में िह राष्ट्रपनत के प्रसादपययत पद धारर् करता है। • इसके अिािा िह कभी भी राष्ट्रपनत को संबोधधत कर अपना त्यागपत्र दे सकता है। Click Here To Join Online IAS Pre Online Coaching www.iasexamportal.com © IASEXAMPORTAL.COM
  8. 8. राज्यपाल की शक्ततयां एवं कायह • राज्यपाि को राष्ट्रपनत के अनुरूप काययकारी, विधायी, वित्तीय और न्यानयक शक्क्तयां प्राप्त होती हैं। यद्यवप राज्यपाि को राष्ट्रपनत के समान कू टनीनतक, सैन्य या आपातकािीन शक्क्तयां प्राप्त नहीं होतीं । • राज्यपाि की शक्क्तयों और उसके कायों को हम ननम्नलिखित शीषकों के अंतगयत समझ सकते हैं- 1. काययकारी शक्क्तयां । 2. विधायी शक्क्तयां । 3. वित्तीय शक्क्तयां । 4. न्यानयक शक्क्तयां । Click Here To Join Online IAS Pre Online Coaching www.iasexamportal.com © IASEXAMPORTAL.COM
  9. 9. राज्यपाल की संवैिाननक क्स्थनत • राज्यपाि की संिैधाननक शक्क्तयों का अंदाजा िगाते हुए हम इन्हें अनुच्छेद 154, 163 एिं 164 के उपबंधों से समझ सकते हैं । Click Here To Join Online IAS Pre Online Coaching www.iasexamportal.com © IASEXAMPORTAL.COM
  10. 10. ऑनलाइन कोध ंग के बारे में अधिक जानकारी के भलए यर्ां क्तलक करें http://iasexamportal.com/civilservices/courses/ias-pre/csat- paper-1-hindi र्ार्ह कॉपी में सामान्य अध्ययन प्रारंभभक परीक्षा (स्टर्ी ककट - पेपर - 1 (Paper - 1) खरीदने के भलए यर्ां क्तलक करें http://iasexamportal.com/civilservices/study-kit/ias-pre/csat- paper-1-hindi Click Here To Join Online IAS Pre Online Coaching www.iasexamportal.com © IASEXAMPORTAL.COM
  11. 11. IASEXAMPORTAL Other Online Courses Online Course for Civil Services Preliminary Examination  सीसैट (CSAT) प्रारंलभक परीक्षा के लिए ऑनिाइन कोधचंग (पेपर - 2)  Online Coaching for CSAT Paper - 1 (GS)  Online Coaching for CSAT Paper - 2 (CSAT) Online Course for Civil Services Mains Examination General Studies Mains (NEW PATTERN - Paper 2,3,4,5) Public Administration for Mains For Know More Click Here: http://iasexamportal.com/civilservices/courses Click Here To Join Online IAS Pre Online Coaching www.iasexamportal.com © IASEXAMPORTAL.COM

×